गंजेपन की समस्या को खत्म कर देता है धतूरा, इन बीमारियों के लिए भी है काल



बता दें कि धतूरा गर्म तासीर का फल है. वैज्ञानिक दृष्टि से धतूरा सीमित मात्रा में लेने पर ही औषधि रहता है, लेकिन गलती से भी इसका अधिक सेवन कर लिया तो ये शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है. इसके अलावा धतूूरे का प्रयोग जोड़ों के दर्द में भी किया जा सकता है. साथ ही पैरों में सूजन या भारीपन के लिए भी धतूरे का प्रयोग कर सकते हैं. इसके लिए धतूरे की पत्तियों को पीसकर लेप करना चाहिए. इससे आपको तत्काल आराम मिलेगा, क्योंकि गर्म तासीर का होने के कारण मांसपेशियों की प्राकृतिक सिकाई होती है और मांसपेशियां नरम पड़ जाती हैं. जिससे मरीज को तत्काल आराम मिलता है. धतूरे के रस को तिल के तेल के साथ मिलाकर लगाने से भी मरीज को फायदा होता है. हालांकि, इस्तेमाल से पहले इसे थोड़ा गर्म कर लेना चाहिए.

धतूरा गंजेपन की समस्या को भी खत्म कर देता है. धतूरे का रस रोजाना सिर पर लगाने से बाल गिरना बंद हो जाते हैं साथ ही नए बाल भी आना शुरु हो जाते हैं. इसके अलावा धतूरा मिर्गी के रोगियों के लिए एक अचूक औषधि है. धतूरे की जड़ सुंघाने पर मिर्गी के रोगी को तत्काल लाभ होता है.
यह भी पढ़ें: भाई के मरते ही भाभी के साथ सोने लगा देवर और हर दिन बनाने लगा संबंध...
गंजेपन की समस्या को खत्म कर देता है धतूरा, इन बीमारियों के लिए भी है काल गंजेपन की समस्या को खत्म कर देता है धतूरा, इन बीमारियों के लिए भी है काल Reviewed by Author on February 28, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.