जिद्दी दाद, खाज और खुजली को 7 दिन में जड़ से दूर कर देता है ये 1 फूल

आज दाद की समस्‍या से बहुत सी महिलाएं परेशान हैं। और इसके लिए तरह-तरह उपचार करती रहती हैं। लेकिन कुछ खास फर्क नहीं पड़ता है। कभी-कभी यह दाद ठीक हो जाता है, लेकिन कुछ दिनों में दोबारा हो जाता है। अगर आप भी इस समस्‍या से परेशान रहती हैं तो अब आपको निराश होने की जरूरत नहीं क्‍योंकि आज हम आपके लिए बहुत ही अच्‍छा उपाय लेकर आए हैं। जिसकी हेल्‍प से आप जिद्दी से जिद्दी दाद, खाज और खुजली की समस्‍या को जड़ से दूर कर सकती हैं। तो देर किस बात की इस बीमारी से छुटकारा पाने के बेहद सस्‍ते और अच्‍छे तरीके के बारे में आप भी हमारे साथ जानें। 

आज हम जिस नुस्खे की बात कर रहे हैं, इसके लिए हमें गेंदे के पौधों की पत्तियां चाहिए। ज्‍यादातर महिलाओं को लगता हैं कि गेंदे का फूल केवल घरों में सजावट करने के लिए और हार फूल माला बनाने के लिए ही काम में आता है। लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दे कि, यह दाद खाज खुजली जैसी बीमारी को भी जड़ से समाप्त कर देता है।
marrygold health inside



दाद-खाज और खुजली के लिए गेंदे का फूल


जी हां इस समस्‍या से बचने के लिए आपको गेंदे का इस्तेमाल करना होगा। क्‍योंकि गेंदे के फूल में कई सारी एंटी फंगल और एंटी एलर्जिक गुण होते हैं जो दाद, खाज और खुजली जैसी समस्याओं को जड़ से दूर कर देते हैं। इसके लिए आपको संयम बरतने की जरुरत होगी। इसके इस्तेमाल का तरीका बेहद आसान है और इससे सालों पुरानी खुजली की समस्याएं भी ठीक की जा सकती है।

इस्‍तेमाल का तरीका

  • सबसे पहले आप गेंदे की पत्तियों को लें और पानी में डालकर उबाल लें।
  • इसे उबालने के बाद ठंडा होने पर अपनी बॉडी में जहां खुजली है उस जगह पर लगाकर अच्छे से साफ करें।
  • या इसके लिए आपको गेंदे के फूल का रस निकलकर पीसकर पेस्‍ट बाल लें।
  • फिर इसे प्रभावित स्थान पर लगाकर सूखने के लिए छोड़ दें।
  • जब यह सूख जाएं तो ठन्डे पानी की हेल्‍प से इसे अच्छी तरह साफ कर लें।
  • मात्र 7 दिनों में आपको इस दाद खाज खुजली जैसी बीमारी से छुटकारा मिल जाएगा।
अगर आप भी इस समस्‍या से परेशान हैं तो आज ही इस उपाय को आजमाएं।


जिद्दी दाद, खाज और खुजली को 7 दिन में जड़ से दूर कर देता है ये 1 फूल जिद्दी दाद, खाज और खुजली को 7 दिन में जड़ से दूर कर देता है ये 1 फूल Reviewed by Author on January 29, 2020 Rating: 5
Powered by Blogger.