जन्माष्टमी 2019: श्रीकृष्ण की पूजा का श्रेष्ठ मुहूर्त और चौघडिय़ा, इस समय जन्म लेंगे श्रीकृष्ण

जन्माष्टमी 2019: श्रीकृष्ण की पूजा का श्रेष्ठ मुहूर्त और चौघडिय़ा, इस समय जन्म लेंगे श्रीकृष्ण
जबलपुर। शुभ विक्रम संवत् : 2076, संवत्सर का नाम : परिधावी्, शाके संवत् : 1941, हिजरी संवत् : 1440, मु.मास: जिल्हेज तारीख 21, अयन : दक्षिणायन, ऋतु : बर्षा, मास : भाद्रपद, पक्ष : कृष्ण
तिथि - रात्रि 3.17 तक जया तिथि अष्टमीं उपरंात रिक्ता तिथि नवमीं रहेगी। जया तिथि सभी प्रकार के मांगलिक कार्य हेतु शुभ मानी जाती है। इस तिथि में सीमंात पुंसवन, प्रसूति स्नान, क्रय विक्रय तथा पठन पाठन जैसे कार्य संपादित किए जा सकते हैं। वहीं रिक्ता तिथि में मांगलिक कार्य लग्र शुद्धि न होने के कारण शुभकारी नहीं माने जाते हैं।
योग- दोपहर 2.27 तक धु्रव उपरंात व्याघात योग रहेगा। शुभ कार्य हेतु धु्रव योग को उत्तम माना जाता है।
विशिष्ट योग- तिथि गणना तथा योग गणना के आधार पर आज का दिन सभी प्रकार के दैनिक कार्य हेतु शुभ रहेगा।
करण- सूर्योदय काल से बालव उपरंात कौलव तदनंतर तैतिल करण का प्रवेश होगा करण गणना सामान्य है।
Krishna Janmashtami 2019 : यहां जाकर मनाएं जन्माष्टमी

नक्षत्र- साधारण संज्ञक ऊध्र्वमुख नक्षत्र कृत्तिका रात्रि 12.9 तक उपरंात रोहिणी नक्षत्र रहेगा। कृत्तिका नक्षत्र में प्राय: शुभ मांगलिक कार्यों का त्याज रहता है, परंतु शुभ लग्र होने पर मांगलिक कार्य संपादित किए जा सकते हैं। वहीं रोहिणी नक्षत्र में सभी प्रकार के शुभ मांगलिक कार्य संपन्न किए जा सकते हैं। व्यापारारंभ हेतु भी यह नक्षत्र अत्यंत शुभ माना जाता है।
शुभ मुहूर्त - आज प्रसूति स्नान, सेवारंभ, पत्रलेखन, क्रय विक्रय, पठन पाठन व्यापारंभ, खनिज संपदा, मित्र मिलन तथा जन हितैषी कार्य हेतु आज का दिन शुभ सुखद रहेगा।
श्रेष्ठ चौघडि़ए - आज प्रात: 7.30 से 10.30 लाभ, अमृत दोपहर 12.00 से 1.30 शुभ तथा रात्रि 9.00 से 10.30 बजे तक लाभ की चौघडिय़ा शुभ तथा मंगलकारी मानी जाती है।
व्रतोत्सव- आज : श्री कृष्णजन्माष्टमी, गोकुलाष्टमी, श्री कृष्णावतार का व्रत व्रतोत्सव पर्व रहेगा। श्री कृष्ण आराधना पुण्यकारी रहेगी।
चन्द्रमा : दिवस रात्रि पर्यंत तक शुक्र प्रधान राशि वृष राशि में संचरण करेगा।

janmashtami 2019

ग्रह राशि नक्षत्र परिवर्तन: सूर्य के सिंह राशि में गुरु वृश्चिक राशि में तथा शनि धनु राशि के साथ सभी ग्रह यथा राशि पर स्थित हैं। सूर्य का मघा नक्षत्र में संचरण रहेगा।
दिशाशूल: आज का दिशाशूल पश्चिम दिशा में रहता है, इस दिशा की व्यापारिक यात्रा को यथा संभव टालना हितकर है। चन्द्रमा का वास दक्षिण दिशा में है, सन्मुख एवं दाहिना चन्द्रमा शुभ माना जाता है।
राहुकाल: दोपहर 10.30.00 बजे से 12.00.00 बजे तक। (शुभ कार्य के लिए वर्जित)
आज जन्म लेने वाले बच्चे - आज : आज जन्मे बालकों का नामाक्षर अ,इ,ई अक्षर से आरंभ कर सकते हैं, कृत्तिका नक्षत्र में जन्मे जातक की राशि मेष तथा राशि स्वामी मंगल है, इस राशि के जातक सामान्यत: प्रकृतिप्रेमी, ईमानदार, संघर्षशाली, समाजसेवी, निडर, मिलनसार तथा धार्मिक स्वभाव के होते हैं। जातक का प्रारंंभिक जीवन सामान्य रहता है, परंतु उत्तरार्ध का जीवन अत्यंत सुखद तथा सफलता प्रदान कराने वाला रहेगा।
जन्माष्टमी 2019: श्रीकृष्ण की पूजा का श्रेष्ठ मुहूर्त और चौघडिय़ा, इस समय जन्म लेंगे श्रीकृष्ण जन्माष्टमी 2019: श्रीकृष्ण की पूजा का श्रेष्ठ मुहूर्त और चौघडिय़ा, इस समय जन्म लेंगे श्रीकृष्ण Reviewed by Author on August 23, 2019 Rating: 5

No comments:

loading...
Powered by Blogger.