ये हैं पीलिया के 10 शुरूआती लक्षण - 10 jaundice symptoms

पीलिया क्या है तथा पीलिया होने का मुख्य कारण - Jaundice, Reason behind jaundice

पीलिया(jaundice symptoms) एक ऐसा खतरनाक रोग है जो शरीर के रक्त तथा ऊतकों में निर्माण हुए एक पदार्थ बिलीरुबिन के कारण होता है। जब व्यक्ति के शरीर में मौजूद R.B.C टूट जाती है तब एक पिले रंग के पदार्थ का निर्माण होता है, जिसे 'बिलीरुबिन' कहते हैं। जब बिलीरुबिन लीवर में पहुंचता है तो यह फिल्टर नहीं हो पाता, तब इसे पीलिया कहते हैं।

jaundice

पीलिया एक ऐसा रोग है जिसके लक्षण - Jaundice symptoms पहले दिखाई नहीं देते जिसके कारण से इसके इलाज में देरी हो जाती है। पीलिया बहुत ही धीमी गति से होने वाला रोग है लेकिन जब यह उग्र रूप धारण कर लेता है, तो इससे बचना मुश्किल है। लेकिन अगर पीलिया के लक्षण - jaundice symptoms का जल्दी से पता चल जाये तो इससे होने वाली हानियों से बचा जा सकता है।

पीलिया के प्रकार - Types of jaundice in hindi

पीलिया मुख्य रूप से 3 प्रकार का होता है जो एक stage की तरह होता है। जिसमे पहले प्रकार का पीलिया कम खतरनाक होता है तथा दूसरे प्रकार का पीलिया उससे ज्यादा खतरनाक। लेकिन पीलिया के लक्षण - jaundice symptoms सभी में एक जैसे होते हैं। जिसके कारण से उन्हें पहचाना जा सकता है।

पीलिया के शुरूआती 10 लक्षण - jaundice symptoms


1. शरीर के कुछ अंगों के रंग में बदलाव आना -

jaundice

पीलिया का सबसे पहला लक्षण - jaundice symptoms यही है कि शरीर के कुछ अंग जैसे - आँख, त्वचा, नाखून पीले हो जाते हैं।

2. बुखार रहना - बुखार रहना पीलिया का सबसे असामान्य और शुरूआती लक्षण है। क्योंकि पीलिया फैलाने वाले वायरस व्यक्ति में ज़्वर (बुखार) पैदा करते है।

3. भूख न लगना - अगर आपको कई दिन से भूख नहीं क्लग रही है तथा नाखून और त्वचा का रंग भी पिला पड़ चुका है। तो समझ लें कि आपको पीलिया हो चुका है, इसलिए तुरन्त डॉक्टर से सहायता लीजिये।

4. कमजोरी होना - वैसे तो व्यक्ति की शारीरिक कमजोरी के कई कारण हो सकते हैं और जरूरी नहीं की अगर आप कमजोर हैं तो आप पीलिया - Jaundice से ग्रसित हैं। लेकिन अगर कमजोरी के साथ आपको पीलिया के अन्य लक्षण - Jaundice Symptoms भी नज़र आते हैं तो डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है।

5. हर समय सिरदर्द रहना -

headache

सिर दर्द रहना भी पीलिया का एक शुरुआती लक्षण है। अगर आपको हर रोज़ सुबह तथा शाम को सिर दर्द होता है तो यह पीलिया का ही लक्षण है। लेकिन अगर आप हर समय सिर दर्द से ग्रसित हैं तो यह माइग्रेन के लक्षण भी हो सकते हैं।

6. कब्ज़ होना - कब्ज़ पीलिया का सबसे आसानी से पहचाना जाने वाला लक्षण है। क्योंकि पीलिया ही एकमात्र ऐसा रोग है जिसके दौरान व्यक्ति कब्ज़ से पीड़ित रहता है। अगर कब्ज़ के साथ पीलिया का कोई अन्य लक्षण भी दिखाई दें तो तुरन्त पीलिया का इलाज शुरू कर दीजिए।

7. मूत्र के रंग में बदलाव - पीलिया होने के दौरान व्यक्ति का मूत्र का रंग पूरी तरह से बदल जाता है। यही नहीं वह गाढ़ा पिला हो जाता है।

8. शरीर में जलन - जब व्यक्ति को पीलिया होता है तो शरीर के कई भागों में जैसे - पेट, कूल्हे, हाथ तथा स्किन पर जलन होने लगती है। यही नहीं मलमूत्र त्यागते वक़्त में मलद्वार में जलन हो जाती है।

9. मतली की शिकायत - पीलिया में मतली होना आम है क्योंकि पीलिया के दौरान निर्माण हुए बिलीरुबिन पदार्थ मतली की समस्या पैदा करता है। यही नहीं अगर पीलिया का जल्दी से इलाज न किया जाये तो यह आगे चलकर बहुत बड़ी समस्या बन सकती है।

10. खुजली होना - खुजली होना भी पीलिया का ही लक्षण-jaundice symptoms है। अगर खुजली का जल्दी से इलाज न किया जाये तो यह अन्य किसी गंभीर बीमारी का रूप धारण कर सकती है।

तो इस पॉस्ट में हमने आपको jaundice symptoms, jaundice symptoms in hindi के बारे में बताया। अगर आप किसी अन्य रोग से ग्रसित है तो यहाँ क्लिक करके आप हर रोग को दूर करने की जानकारी बिलकुल मुफ्त में पा सकते हैं।

Post a Comment

0 Comments